“किस ऑफ लाइफ” बुक लॉन्च पर सीएम बोले इमरान से बड़े स्टार ‘अयान’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इमरान हाशमी के साथ एक बुक “किस ऑफ लाइफ” लॉन्च की जो इमरान के बेटे (अयान) की लाइफ पर बेस्ड है। बिलाल सिद्दकी ने इस बुक को लिखा है। इमरान हाशमी के बेटे को कैंसर हुआ था जिसके ऊपर यह बुक लॉन्च हुई। इस बुक का कवर लॉन्च पहले ही हो चुका है।

यह एक मोटिवेशनल बुक है जो मुश्किल हालातों से निकलने और एक अच्छा पॉजीटिव लाइफ जीना सिखाती है। बुक लॉन्च में जब इमरान हाशमी से जब पूछा गया कि आपको कैसे पता चला कि आपके बेटे को कैंसर है तो इमरान ने बताया कि “एक शाम मैं अपनी फैमिली के साथ रेस्टोरांट्स गया था। जहां मैंने और मेरी वाइफ ने नोटिस किया कि अयान के टॉयलेट में ब्लड आ रहा है। बतौर पैरेंट्स हम घबरा गए और उसे फटाफट हॉस्पिटल लेकर गए। घर पहुंचकर रात में सोने से पहले इंटरनेट पर सर्च किया। इंटरनेट पर साफ साफ लिखा कि यह लक्षण कैंसर के है। मैं उस रात भगवान से बस यही दुआ करता रहा कि प्लीज गॉड कैंसर ना हो। अगने दिन हम फिर से हॉस्पिटल गए जहां हमें पता चला कि अयान की लेफ्ट किडनी में विल्म्स (wilms) कैंसर है। यह एक ऐसा कैंसर है जो अभी तक पूरी दुनिया में छोटे बच्चों को केवल 5% के आसपास है। मैं फाइनेंशियली थोड़ा ठीक हूं इसलिए मैं अपने बेटे का इलाज करा पाया। यह एक ऐसा कैंसर है जो ठीक होने के बाद भी दोबारा हो सकता है।

इमरान ने बताया कि अयान बैटमैन लवर है और मैं रियल लाइफ में अपने बेटे के लिए बैटमैन हूं। और यह बुक केवल कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए नहीं है बल्कि यह एक मोटिवेशनल बुक है जो आपको हर सिचुएशन मे जीना सिखाती है। मैं बस यहीं कहना चाहता हूं कि मेरे 4 साल के बेटे ने मुझे मेरी लाइफ में इतना कुछ सीखा दिया कि जितना 10 समझदार इंसान भी मुझे पूरी जिंदगी में नहीं सीखा पाए।“

बुक लॉन्च के मौके पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कैंसर एक बड़ी बीमारी है। और मेरी नजर में अयान इमरान हाशमी से काफी बड़े स्टार है जिन्होंने कैंसर जैसी बीमारी को पछाड़ कर जिंदगी की रेस को जीता है। इमरान हाशमी के पास पैसे थे इसलिए वो इलाज के लिए कनाड़ा जा सके लेकिन हमारे देश में काफी ऐसे लोग है जिनके पास पैसा ना होने की वजह से वह अपना इलाज नहीं करा पाते। और कैंसर जैसी बीमारियों से हार जाते है। केजरीवाल से जब पूछा गया कि कैंसर जैसी बीमारियों के लिए सरकार क्या कर रही है तो केजरीवाल ने कहा कि “यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वो सही ढंग से पैसे को पब्लिक सर्विस में इन्वेस्ट करे, जिससे हमारे देश में कोई भी सिर्फ पैसे ना होने के कारण अपना इलाज ना करा पाए। दिल्ली सरकार पूरी कोशिश करेगी कि कोई पैसे की वजह इलाज कराने से ना रूक जाए।“