‘वन नाइट स्टैंड’ के लिए दिल्ली पहुंचीं सनी लियोनी

अपनी अदाकारी और बोल्ड इमेज से बॉलिवुड में धमाल मचाने वाली सनी लियोनी बड़े पर्दे पर छाने के लिए एक बार फिर से तैयार हैंक्योंकि उनकी आनेवाली फिल्मवन नाइट स्टैंड’ में भी हॉट सींस की भरमार है और हमेशा की तरह सनी इस फिल्म में भी हॉट और सेक्सी अवतार में हैं।
सनी लियोन को पर्दे पर बेहद हार्ट और मादकता से भरपूर अवतारों के लिए खास रूप से जाना जाता है।
स्वाभाविक रूप से उनकी फिल्म वन नाइट स्टैंड’ भी इससे अछूती नहीं हैक्योंकि इस फिल्म में भी उन्होंने सभी सीमाओं को हरसंभव लांघने की कोशिश की है। जैस्मीन डिसूजा के निर्देशन में बनी इस फिल्म का निर्माण स्विस एंटरटेनमेंट कंपनी ने किया हैजबकि फिल्म में मुख्य भूमिका में सनी लियोनी एवं नायरा बनर्जी के साथ अपने जमाने की खूबसूरत अभिनेत्री रति अग्निहोत्री के पुत्र तनुज विरानी हैं।
इस फिल्म के दो-दो हिट गीत लव यू सोनियो’ एवं पुरानी जींस’ में सनी के साथ नजर आनेवाले 29 वर्षीय तनुज विरवानी से जब इस फिल्म में सनी के अपोजिट काम करने के फैसले पर उनकी मां रति अग्निहोत्री की प्रतिक्रिया के बारे में पूछा गयातो उन्होंने कहा, ‘मैनें ये फिल्म साइन करने से पहले अपनी मम्मी को बताया कि मैं सनी लियोनी के साथ एक फिल्मजिसका नाम वन नाइट स्टैंड’ हैकरने जा रहा हूंतो ये सुनकर उन्हें अच्छा लगा। बसउन्होंने यही कहा कि देखो बेटाजब सनी लियोन की फिल्म होती हैतो फिल्म में लोग उन्हें ज्यादा देखना चाहते हैं। आप बस यह देखना कि आपका रोल अच्छा हो। किरदार चाहे छोटा ही सहीलेकिन दमदार होना चाहिए।’ तनुज ने बताया, ‘मेरी मां पहले दिन सेट पर भी आईं और वे सनी लियोनी से मिली और उन्हें काफी खुशी हुईं।
सनी ने बहुत ही कम समय बहुत ज्यादा लोकप्रियता हासिल कर ली हैक्योंकि वह पर्दे पर चुंबन सीन देती हैंबिकनी पहनती हैं और हॉट सींस देती हैं। लेकिन उन्हें इस बात की शिकायत है कि आखिर उन्हें क्यों केवल मैं बोल्ड दिवा’ की श्रेणी में ही घसीटा जाता है। लेकिन क्या वन नाइट स्टैंड’ की अवधारणा उचित हैपूछने पर सनी कहती हैं, ‘इंडियन सोसाइटी में भी ऐसा होता हैलेकिन सच बात यह है कि इसे स्वीकार करना इतना आसान नहीं होता। लेकिनइस बारे में एक जरूर कहूंगी कि इस एक बात से लोगों को उसके चरित्र के बारे में अनुमान नहीं लगा लेना चाहिए। हो सकता हैइसका कारण एक विशेष परिस्थिति हो या किसी का अकेलापन भी हो सकता है।
फिल्म की कहानी के बारे में पूछने पर निर्देशक जैस्मीन डिसूजा कहते हैं, ‘यह फिल्म दो लोगों के बीच गुजरी एक रात की कहानी पर आधारित हैजिसमें दोनों के बीच संबंध बनते हैं और फिर दोनों को प्यार हो जाता है।’ लेकिन इस अवधारणा के बारे में जैस्मीन डिसूजा कहते हैं, ‘आमतौर पर लोगों की मानसिकता का एक यह है कि जब एक लड़का या पुरुष कुछ गलत भी करेतो यह उनकी ओर से ठीक हैलेकिन वही गलती अगर महिलाएं करेंतो बहुत बड़ा मुद्दा बना दिया जाता है। आखिरयह कहां का न्याय हैकुछ इसी तथ्य पर बेस्ड है फिल्म वन नाइट स्टैंड। 
यह पूछने पर कि आखिर महज 55 दिनों में फिल्म कैसे कंप्लीट हो गईनिर्देशक ने कहा, ‘यह सब आपकी योजना पर निर्भर करता है। जब आप सबकुछ योजनाबद्ध तरीके से और बेहतर ढंग से कार्यान्वित करते हैंतो कुछ भी असंभव नहीं होता। मैं क्या और कैसा चाहता थासब कुछ पहले से तय थातो चीजें वास्तव में आसानी से होती चली गईं। वैसेमैं इसके लिए अपनी टीम का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं।