भ्रूण हत्या पर आधारित है ‘कजरिया’



निर्देशक मधुरीता आनंद की बहुचर्चित आगामी फिल्म ‘कजरिया’ की कहानी हमारे देश के छोटे गांवों में चल रहे कन्या भ्रूण हत्या की प्रथा पर आधारित है। फिल्म में दो औरतों की कहानी दिखाई गई है। एक दिल्ली से आई पत्रकार है, जिसका किरदार रिद्धिमा सूद ने निभाया है, जबकि दूसरी औरत, जिसे गांव की बेटियों को मारने की जिम्मेदारी सौंपी गई है, का किरदार मीनू हुड्डा ने निभाया है।

फोब्र्स लाइफ मैगजीन द्वारा इस की पांच बेहतरीन फिल्मों की सूची में इस फिल्म को भी शुमार करने के कारण इसकी ठोस कहानी का अंदाजा स्वतः लगाया जा सकता है। पिछले दिनों जहां इस फिल्म का ट्रेलर दिल्ली के जंतर मंतर पर सामाजिक कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में जारी किया गया, वहीं अपनी फिल्मों में हमेशा सामाजिक मुद्दों को कुशलता पूर्वक उठाने के कारण ‘कर्मवीर अवाॅर्ड’ से सम्मानित मधुरीता अपनी पूरी टीम के साथ हाल ही में फिल्म का प्रमोशन करने भी यहां पहुंचीं। अकादमी अवार्ड के नॉमिनी और गोल्डन ग्लोब अवार्ड विजेता रिचर्ड होरोविट्ज के संगीत से सजी एवं चीन में आयोजित सिल्क रोड इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म का खिताब पा चुकी अपनी फिल्म के बारे में निर्देशक मधुरीता आनंद ने कहा कि मैंने महिला सशक्तिकरण पर कई फिल्में बनाई हैं। इस दौरान मुझे अहसास हुआ कि कोई भी चीज, जो महिलाओं के लिए बुरी है, वह पुरुषों के लिए भी बुरी है। इसलिए यह एक जहरीला वातावरण पैदा कर रही है। यही वजह है कि हमने इस बार कहानी के केंद्र में कन्या भ्रूण हत्या जैया संवेदनशील विषय रखा है, क्योंकि भारत में पांच करोड़ से अधिक लड़कियों का गायब होना बेहद शर्मनाक है। 
फिल्म में कजरिया का किरदार निभा रही मीनू हुड्डा ने बताया कि फिल्म की कहानी अलग-अलग पृष्ठभूमि की दो महिलाओं पर आधारित है, जिसमें से कजरिया नामक औरत एक गांव में रहती है और उसका काम बच्चियों को मारना है। फिल्म में कजरिया का किरदार मैंने निभाया है। इससे पहले ‘सही धंधे गलत बंदे’ में नजर आ चुके कुलदीप रूहिल का कहना है कि उन्होंने फिल्म में बनवारी नामक युवक का किरदार निभाया है, जो विकृत मानसिकता का युवक है और हमेशा गलत बातें एवं क्रियाकलाकपों में ही शामिल रहता है। करियर की शुरुआत में ही ऐसे चैलेंजिंग किरदार मिल जाना मेरे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि रही। चूंकि यह किरदार नेगेटिव शेड का है, इसलिए इसे पर्दे पर जीवंत बनाने के लिए मैंने जहां वर्कशाॅप का सहारा लिया, वहीं काफी होमर्व भी किया, ताकि किरदार के अंदर की नकारात्मकता को पूरी शिद्दत के साथ पर्दे पर उतार सकूं। फिल्म 4 दिसंबर को रिलीज हो रही है।